उर्वरक प्रतिष्ठानों का निरीक्षण

गया के उर्वरक प्रतिष्ठानों का निरीक्षण करने पहुॅचे संयुक्त निदेषक (पौधा संरक्षण), बिहार, पटना*
Advertisement

> *बन्द पाये गये उर्वरक प्रतिष्ठानों से पूछा गया स्पष्टीकरण*

> *उर्वरक अनुज्ञप्ति मुख्य स्थान पर प्रदर्षित करने का दिया गया निर्देष*

कृषि निदेषक, बिहार, पटना के द्वारा दिये गये निर्देष के आलोक में आज दिनांक 31.12.2020 को संयुक्त निदेषक (पौधा संरक्षण), बिहार, पटना डा॰ प्रमोद कुमार ने जिले के विभिन्न उर्वरक प्रतिष्ठानों का औचक निरीक्षण किया। उर्वरक प्रतिष्ठानों पर उर्वरक की बिक्री च्व्ै मषीन की जा रही है या नही इसकी जाँच की गयी। जाँच में सभी प्रतिष्ठानों पर च्व्ै मषीन से ही उर्वरकों की बिक्री होते पायी गयी। जाँच के क्रम में च्व्ै मषीन में उपलब्ध उर्वरकों की मात्रा का मिलान उर्वरक प्रतिष्ठान के भंडार में उर्वरक की मात्रा से की गयी एवं सही पाया गया। उर्वरक प्रतिष्ठानों पर जाँच के दौरान अनुज्ञप्ति दिखाने में कठिनाई हुई। उन्हें उर्वरक अनुज्ञप्ति दुकान के मुख्य स्थान पर प्रदर्षित करने का निर्देष दिया गया।

मानपुर प्रखंड के खंजाहाँपुर में मे॰ हरियाली कृषि केन्द्र बन्द रहने के संबंध में स्पष्टीकरण प्राप्त करने का निदेष दिया गया।

रबी 2020-21 में वितरित बीज की जाँच के क्रम में श्री शेखर कुमार वर्मा, किसान प्रखंड- इमामगंज, श्री शिव यादव एवं श्री महेन्द्र कुमार सिंह, किसान प्रखंड- बाराचट्टी, श्री इन्द्रदेव मांझी, किसान, प्रखंड- बाॅके बाजार ने बताया कि उन्होनें बिहार राज्य बीज निगम के माध्यम से बीज प्राप्त किया है तथा अभी यह बीज खेतों में लगा हुआ है। जाँच के दौरान जिला कृषि पदाधिकारी, गया श्री सुदामा महतो, सहायक कृषि पदाधिकारी (वनस्पति), गया श्री चन्द्रभुषण शाही एवं प्रभारी उर्वरक नियंत्रण कोषांग, गया श्री सुदामा सिंह मौजुद थे।

➖AnjNewsMedia

Leave a Comment

You cannot copy content of this page

error: Content is protected !!